नदी अभियान – जागरुकता अभियान

यह कोई धरना या विरोध प्रदर्शन नहीं है, यह अभियान इस जागरुकता को फैलाने के लिए है, कि हमारी नदियां सूख रही हैं। हर वो इंसान जो पानी पीता है उसे इस नदी अभियान में अपना सहयोग देना होगा। भारत की नदियां जबर्दस्त बदलाव से गुजर रही हैं। आबादी और विकास के दबाव के कारण हमारी...

मेरी आगामी प्रकाशनाधीन पुस्तक

हिन्दु जगत के सर्वोच्च संत कांची काम कोटी पीठ के शंकराचार्य जगदगुरु श्री जयेन्द्र सरस्वती जी एवं आगामी पीठाधीश्वर श्री शंकर विजयेन्द्र सरस्वती जी ने मेरी दक्षिण भारत यात्रा के दौरान मुझे सपरीवार आशीर्वाद प्रदान किया तथा मेरी आगामी प्रकाशनाधीन पुस्तक “HINDUISM- a...

धर्म तत्व का विवेचन

धर्म का प्रकृति के साथ अनन्य संबंध है । जीव और जगत धर्म के दो छोर है जो धर्म बिंब से जुड़े हुए होते है ।धर्म की परिष्कृत दृष्टि वैचारिक चेतना के उन्नत रूप पर अवलंबित है । मनुष्य यौनि में धर्म तत्व का प्रभाव व्यष्टि से लेकर समष्टि रूप तक लक्षित होता है । धर्म आवरण में...

परिवार का महत्व समझे

एक पार्क मे दो बुजुर्ग बैठे बातें कर रहे थे। पहला-मेरी एक पोती है शादी के लायक है। BE किया है JOB करती है, कद 5″2 इंच है, सुंदर है ,कोई लडका नजर मे हो तो बताइएगा..। दूसरा -आपकी पोती को किस तरह का परिवार चाहिए पहला-कुछ खास नही, लडका ME / M.TECH किया हो, अपना घर...

जे.पी.ने पटना में भ्रष्टाचार के खिलाफ बुलायी रैली

~ तानाशाही का असली रूप सामने आते देर नहीं लगी। नवम्बर की शुरूआत में ही हुआ वह भयानक हादसा। जे.पी.ने पटना में भ्रष्टाचार के खिलाफ रैली बुलायी। हर उपाय पर भी लाखों लोग सरकारी शिकंजा तोड़ कर आये। उन निहत्थों पर निर्मम लाठी-चार्ज का आदेश दिया गया। अखबारों में धक्का खा कर...

मुचकुंद दूबे के लालन शाह….

प्रो. मुचकुंद दूबे ने हिंदी में वह काम कर दिखाया है, जो रवीन्द्रनाथ टैगोर ने लालन शाह फकीर के लिए बांग्ला में किया था। लालन शाह एक बाउल संत थे, जिनका जन्म 1774 में हुआ माना जाता है और निधन 1890 में याने उन्होंने 116 साल की उम्र पाई। आज बांग्लादेश के घर-घर में उनके गीत...