हिन्दु जगत के सर्वोच्च संत कांची काम कोटी पीठ के शंकराचार्य जगदगुरु श्री जयेन्द्र सरस्वती जी एवं आगामी पीठाधीश्वर श्री शंकर विजयेन्द्र सरस्वती जी ने मेरी दक्षिण भारत यात्रा के दौरान मुझे सपरीवार आशीर्वाद प्रदान किया तथा मेरी आगामी प्रकाशनाधीन पुस्तक “HINDUISM- a breaf introduction” की भूमिका लिखना भी स्वीकार किया, जो की मेरे लिये वास्तव में एक गौरवपूर्ण घटना है…इस दौरान मेरे साथ श्री उत्तम चन्द बागमार जी, श्री महावीर रांका जी एवं डा. आँचल जैन भी शामिल रहें…!